आज का पंचांग योग, समय और फलित, 14 May 2021

panchang yog

आज का पंचांग योग, समय और फलित, 14 May 2021

14 May 2021

योग : सुकर्मा, समय - अगले दिन 15 May, 1:33:01 AM तक

योग फलित : शुभ योग है, शुभ कार्यों को करने के लिए अच्छा है।

योग का अर्थ : (पवित्र) - श्रेष्ठ कर्म करते हैं, श्रेष्ठ और दानशील, धनवान।

पंचाग के पांच अंगो में से एक अंग योग होता है. तिथि और समय का आकलन करने के लिए योग का उपयोग होता है. पंचांग में योगों की गणितीय आकलन, कुल योग, और इनकी विशेषता के बारे इस लेख में जानते है.

सूर्य से चन्द्रमा का भ्रमण 360 डिग्री में से 13 डिग्री और 20 कला या मिनट से विभाजित करने पर योग होता है.

वैदिक ज्योतिष में पंचांग के कुल 27 योग है. इन योगोंका व्यक्ति पर भौतिक और मानसिक रूप से असर होता है. यह योग व्यक्ति को, मानसिक और व्यक्ति के कार्योंको प्रभावित करते है. आइये जानते 27 योगोंपर जन्मे जातक पर क्या परिणाम होता है. और इन योगोंकी विशेषता क्या है ?

विशकुंभ योग

विशकुंभ योग पर जन्मा व्यक्ति के जीवन में सुख समृद्धि बानी रहती है. तथा यह व्यक्ति धनवान होता है. शत्रुओं पर विजय प्राप्त करता है.

प्रीति योग

प्रीति योग पर जन्मा जातक अपने से विपरीत लिंग के बिच अधिक लोकप्रिय होता है. यह जातक अपना जीवन आनंद में व्यतीत करना पसंद करते है. यह जातक अपने जीवन में कुछ अतिविशेष कार्य करते है.

आयुष्मान योग

आयुष्यमान योग में जन्मे जातक प्रतिभाशाली, भाग्यवान, बुद्धिमान होते है. इनके पास हमेशा ऊर्जा बनी रहती है. स्वस्थ और लम्बी आयु के यह धनि होते है.

सौभाग्य योग

सौभाग्य योग, नाम के जैसे ही इस योग में जन्मे जातक भाग्यशाली होते है. तथा भाग्य इनका साथ हमेशा देता है. इन्हे आरामदायक जीवन व्यतीत करना अच्छा लगता है. साथ में जातक हमेशा नए अवसर मिलते रहते है.

शोभना योग

शोभना योग में, विपरीत लिंग वाले व्यक्ति के प्रति जल्दी आकर्षित होने की इनकी प्रवृत्ति होती है. इसके साथ विपरीत लिंग वाले व्यक्ति को यह जल्दी आकर्षित करने में कामयाब भी होते है. इनका स्वभाव कामुक होता है. यह जल्दी भौक हो जाते है.

अतिगण्ड योग

अतिगण्ड योग पर जन्मे जातक पर दुर्घटना का शिकार होने खतरा हमेशा बनता है. तथा यह जातक तामसिक प्रवृत्ति वाले होते है. मांस और मदिरा का सेवन करना इन्हे प्रिय होता है.

सुकुर्मा योग

सुकुर्मा योग पर जन्मे जातक, सामाजिक कार्य के प्रति इन जातकों की आसक्ति होती है. नैतिक मूल्योंके साथ यह अपना जीवन व्यतीत करना पसंद करते है. धार्मिक स्वभाव के साथ अपने जीवन को समृद्ध करते है. दुसरो की भलाई करना इनके मनको शांति देता है.

धृति योग

धृति योग में जन्मे जातक हमेशा खुश मिजाज रहना पसंद करते है. यह हमेशा जीवन को अलग पहलू से देखते है. धृति योग में जन्मा जातक धनवान तथा बुद्धिमान होता है. इनको मेहमान नवाजी करना काफी पसंद होता है.

शूल योग

शूल योग पर जन्मे जातक छोटी छोटी बातों पर घुस्सा करना, लड़ाई पर उतारू होता है. इनके मन की व्याप्ति कम होती है.

गंड योग

गंड योग में जन्मे जातक का जीवन में हमेशा नैतिकता से जीने के कारन कष्टप्रद होता है. यह जातक साहसी होते है. इनसे दुश्मनी मौल लेना खतरे से खाली नहीं होता. लोग हमेशा इनके बारे में दुष्प्रचार करते है.

वृद्धि योग

वृद्धि योग में जन्मे जातक विपरीत परिस्थितियो मे आशावादी रहते है. साहसी होते है. यह हमेशा जीवन में बड़ा पद प्राप्त करते है.

ध्रुव योग

ध्रुव योग में जन्मे जातक धनवान होते है. इनकी एकाग्रता सराहनीय होती है. अपने लक्ष्योंके प्रति यह अडिग होते है. इनका जीवन हमेशा प्रयत्नवादी होता है.

व्यघ्रता योग

व्यघ्रता योग में जन्मे जातक नाम के अनुसार क्रूर स्वभाव के होते है. लोगों से इनका व्यवहार कभी कभी दुर्व्यवहार बन जाता है. कभी कभी यह जातक दूसरोंके लिए हानिकारक साबित होते है.

हर्षण योग

हर्षण योग में जन्मे जातक जीवन हमेशा आनंदी रहते है. इनके पास प्रचुर मात्रा में विवेक बुद्धि होती है. इनका सामाजिक स्टार बकियोंके मुकाबले अच्छा होता है.

वज्र योग

वज्र योग में जातक अपने शत्रुओंपर हमेशा विजय प्राप्त करे है. इसका मुख्य कारन यह है. की यह कब कौनसा निर्णय लेंगे किसी को समज नहीं आता. इनपर भरोसा करना मुश्किल होता है. यह हमेशा आशावादी होते है. इन को दुसरों पर अधिकार जताना अच्छा लगता है.

सिद्धि योग

सिद्धि योग में जन्मे जातक, दूसरोंसे बेहतर कार्य करवाता है. यह इनके पास गुण होता है. यह हमेशा अवसर वादी होते है. मौके का फायदा उठाना कई इनसे सीखे. विपरीत परिस्थिति में यह कभी हार नहीं मानते. यह हमेशा आशावादी होते है.

व्याप्ति योग

व्याप्ति योग में जन्मे जातक अपनी पहचा हमेशा छुपाते है. दूसरों को इन्हे समझने में भूल हो सकती है. इनका जीवन संघर्षमय होता है.

वरीयाना योग

वरीयाना योग में जन्मे जातक थोड़े अलसी प्रवृत्ति के होते है. किसी भी काम के प्रति यह थोड़े गैर जिम्मेदार भी हो सकते है. यह हमेशा अपना जीवन आराम से जीना चाहते है.

परिघ योग

परिघ योग में जन्मे जातक संघर्ष भरा जीवन के धनि होते. चिड़चिड़ा स्वभाव के कारन यह जीवन में दुखी रहते है. दुसरो के जीवन में बे वजह दखल देना इन्हे अच्छा लगता है.

शिव योग

शिव योग में जन्मा जातक भाग्यशाली, धनवान होता है. यह हमेशा धार्मिक प्रवृत्ति के होते है. धन सबंधी इन्हे जीवन में काफी अवसर मिलते रहते है. जीवन में हमेशा मान मिलता रहता है.

सिद्ध योग

सिद्ध योग में जन्मे जातक हमेशा सुखी जीवन व्यतीत करते है. दूसरों की सहायता करना, सामाजिक कार्य इन्हे अच्छा लगता है. यह आध्यात्मिक जीवन जीते है.

साध्य योग

साध्य योग में जन्मे जातक अष्टपैलू होते है. प्रतिभावान सामर्थ्य से यह अपना जीवन व्यतीत करते है. दूसरों के प्रति इनका व्यवहार हमेशा आदर पूर्वक होता है.

शुभा योग

शुभा योग में जन्मे जातक का स्वभाव काफी मृदु होता है. जीवन में किसी रोग से पीड़ित रहते है. यह जातक धनवान होते है. साथ ही इनका व्यक्तित्व प्रभावशाली होता है.

शुक्ल योग

शुक्ल योग में जन्मे जातक हमेशा आत्मविशास पूर्ण होते है. हर कार्य में जल्दबाजी इनके अपयश का कारन बन जाती है.

ब्रम्ह योग

ब्रम्ह योग में जन्मे जातक जीवन के प्रति हमेशा महत्वाकांक्षी होते है. विपरीत परिस्थियों में इनका आत्मविश्वास बना रहता है. यह हमेशा विवेकशील होते है.

इंद्र योग

इंद्र योग में जन्मे जातक संवेदनशील स्वभाव के होते है. दूसरों के प्रति इनका व्यवहार संदेह पूर्ण होता है. हमेशा नया सिखने की इनकी कोशिश होती है. समाज में इनका कार्य उल्लेखनीय हो सकता है.

वैधृति योग

वैधृति योग में जन्मे जातक बलवान शरीर के धनी होते है. दूसरों से बाते करने में चतुर होते है. अपना काम करने के लिए यह दूसरे लोगों का अच्छा उपयोग कर सकते है. यह जातक अपने व्यवहार के कारन चालाक होते है.