अभिजीत मुहूर्त, अभिजित नक्षत्र और गणना

abhijeet muhurta

क्या है अभिजीत मुहूर्त

आज का अभिजीत मुहूर्त, वैदिक ज्योतिष के अनुसार, कुछ कार्य सफल बनाने हेतु किसी खास मुहूर्त पर करना जरुरी है. किसी मुहूर्त का चयन करने से पहले, वो मुहूर्त कौनसे कार्य के लिए निकल रहा है. यह जादा जरुरी है. आज का अभिजीत मुहूर्त, वैदिक ज्योतिष में हर किसी कार्य के लिए, अनेक मुहूर्त दिए है. कार्य शुभ हो या अशुभ, आकाश मंडल में वार, राशि, नक्षत्र के अनुसार शुभ अशुभ नक्षत्रोंके द्वारा उस खास मुहूर्त का चयन होता है. अनेक शुभ मुहूर्तों में से एक शुभ मुहूर्त है, जिसका नाम है अभिजीत मुहूर्त. अभिजीत मुहूर्त नाम के अनुसार ही, जीत दिलाने वाला होता है.

अभिजीत मुहूर्त और अभिजीत नक्षत्र

साढ़े सत्ताईस नक्षत्रो में आधा नक्षत्र, अभिजीत नक्षत्र है. इस अभिजीत नक्षत्र का और अभिजीत मुहूर्त का एक कोई सबंध नहीं है. लेकिन अभिजीत नक्षत्र पर आने वाला अभिजीत मुहूर्त विशेष फलदाई साबित हुआ है. और यह मुहूर्त अति शुभ माना जाता है.

अभिजीत मुहूर्त की गणना

सूर्योदय के बाद से सूर्यास्त तक कुल ३० मुहूर्तों का विभाजन होता है. इनमे से कुछ शुभ कर्मो के लिए और और कुछ अशुभ कर्मो के लिए मुहूर्त अच्छे माने जाते है. इनमे से अभिजीत मुहूर्त शुभ कार्यों के लिए सबसे शुभ माना जाता है. साल के प्रत्येक दिन में मध्यान्ह से २४ मिनट पहले और २४ मिनट बाद समाप्त होने वाले समय को अभिजीत मुहूर्त कहा जाता है.

अभिजीत मुहूर्त में करने वाले कार्य

अभिजीत मुहूर्त सभी शुभ कर्मो के लिए अच्छा समजा जाता है. किसी भी कार्य को प्रथम शुरुवात करने के लिए, कोई यात्रा का प्रारम्भ करने के लिए, कोई नया व्यापर की शुरुवात करने के लिए, किसी ऋण को चुकाने के लिए, धन संग्रह करने के लिए, कई बार अभिजीत मुहूर्त का प्रयोग, गृह प्रवेश, मुंडन के लिए, विवाह आदि के लिए शुभ माने जाते है. इसके साथ सभी प्रकार के शुभ कार्यों के लिए अभिजीत मुहूर्त का उपयोग किया जाता है. लेकिन मांगिलक कार्य जैसे, गृह प्रवेश, विवाह अदि कार्यों के लिए मुहूर्त के साथ योगोंको देखना भी आवश्यक है.

अभिजीत मुहूर्त क्या है वर्जित

अभिजीत मुहूर्त के चलते दक्षिण दिशा में यात्रा या प्रवास करना वर्जित है. साथ में बुधवार के दिन अभिजीत मुहूर्त का उपयोग नहीं करना चाहिए। बुधवार के दिन अभिजीत मुहूर्त के अच्छे परिणाम मिलने की सम्भावना कम होती है.

आज का राहुकाल