इस मंदिर में चढ़ाया जाता है लिंग का चढ़ावा, दुनिया के अजब गजब मंदिर और उनकी कथाये

आध्यात्मिक | June 2, 2020, 10:15 am | Jyotish Guide
इस मंदिर में चढ़ाया जाता है लिंग का चढ़ावा, दुनिया के अजब गजब मंदिर और उनकी कथाये

दुनिया के वो अजब गजब मंदिर जिसके बारे शायद ही आपको पता होगा. वैसे भारत की हिन्दू सभ्यता हजारो सालोंसे पुराणी है. आज से पहले भारत की सिमा अफगानिस्तान, और म्यानमार से भी दूर थी. इसी के कारन हिन्दू मंदिर भारत के अलावा विदेशो में भी बनाये गए है. इसलिए हिन्दू धर्म बाकि देशो में काफी घुल मिल गया था. दो हजार साल पहले अयोध्या की एक हिन्दू राजकुमारी साऊथ कोरिया की रानी बन गई थी. यही एक कारन है, वहा के लोग आज भी अपने आप को हिन्दू समझते है. और हर साल सेकड़ो लोग अयोध्या में प्रभु राम के दर्शन करने आते है. इसलिए देश विदेशोंमें कई मंदिर बने है, जो अजब गजब मान्यताओं के साथ रहस्य मई बन गए है. इन अजब गजब मंदिरोंका रहस्य आजतक कोई नहीं जान पाया है आज ऐसे ही कुछ ख़ास मंदिरों के बारे में हम अधिक जानने की कोशिश करेंगे.

यहाँ देवी को चढ़ाये जाते है लिंग

थायलंड के बैंकॉक में स्यान नदी के किनारे एक देवी का अजब गजब मंदिर बना हुआ है. देवी का नाम है, चाओ मई तृप्तिम. इस देवी को थायलंड के लोग प्रजनन की देवी मानते है. यहाँ की मान्यता है की, अगर यहाँ आनेवाले भक्त धातु, लकड़ी या रबर से बना लिंग देवी को अर्पण किया जाता है, तो ऐसे माँ को संतान की प्राप्ति होती है. और हैरान करने वाली बात यह है की, वाकई कई भक्तो को देवी को लिंग अर्पण करने से फायदा हुआ है. इसलिए यहाँ की भक्तो की श्रद्धा और मजबूत हो गई है.

रजस्वला यानि पीरियड्स होने वाली माता कामाख्या

रहस्य्मय मंदिरों में असम गुहाटी का माँ कामाख्या देवी का अजब गजब मंदिर भी शामिल है. स्थानीय लोगोंकी मान्यता अनुसार यहाँ एक साल में आनेवाले अंबोवाची पर्व के मध्यान्ह में देवी को रजस्वला यानि पीरियड्स होते है. इस दौरान मंदिर के द्वार बंद कर दिए जाते है. इन दिनों मंदिर के नालियों में जल प्रवाहित ना हो के रक्त प्रवाहित होता दिखाई देता है. यहाँ आनेवाले भक्तों को प्रसाद स्वरूप, देवी माँ के रजस्वला होने के समय वाले कपडे प्रसाद स्वरूप दिए जाते है.

देवी माँ के मुख से सालो से निकलती आग

हिमाचल प्रदेश का ज्वाला देवी मंदिर काफी रहसयमई माना जाता है. जब भगवान शिव माँ सती का जला हुआ शरीर आकाश मार्ग द्वारा ले जा रहे थे. तब माँ सती की जीभ यहाँ आकर गिर गई थी. यही पर माँ ज्वाला का मंदिर बना हुआ है. ऐसा मन जाता था है, तब से लेकर आज तक माँ की जीभ से आग बिना बुझे निकल रही है.

हजारो बम भी माँ के मंदिर को हिला नहीं पाए

राजस्थान के जैसलमेर में भारत पाकिस्तान की बॉर्डर पर माता तनोट राय का मंदिर बना हुआ है. १९६५ और १९७१ के दौरान हुए भारत पाकिस्तान के युद्ध के दौरान पाकिस्तानी सैनिक मंदिर के परिसर तक अंदर आगये थे. पाकिस्तानी सैनिकों ने मंदिर पर भारी बमबारी की. लेकिन माँ का चमत्कार यह था, की यहाँ एक भी बम नहीं फटा. पाकिस्तानी सैनिकों की स्मृति भ्रंश हुआ और वो आपस में ही भीड़ गए. उस वक्त के कुछ जिन्दा बम आज भी मंदिर के संग्रालय में रखे हुए है.

बिना दरवाजे वाला शनि महाराज का गाँव

महाराष्ट्रा के अहमदनगर जिले स्थित शनि शिंगणापुर है. मान्यता अनुसार यहाँ एक मात्र काले पत्थर के रूप में भगवान शनि महाराज निवास करते है. गांव वालों के मान्यता नुसार, शनि महाराज न्याय देवता होने के कारन इस गांव में कभी चोरी नहीं होती, इसिलए यहाँ के घर, दूकान या ऑफिस को दरवाजे नहीं होते है. बिना दरवाजे वाला गांव से शनि शिंगणापुर की कहानी प्रसिद्द है.

हमारी जानकारी आपको कैसी लगती है, कमेंट के जरिये जरूर बताये, धार्मिक, ज्योतिष तथ्य और जानकारी के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे, ज्योतिष और धार्मिक व्हिडिओ देखने के लिए यूट्यूब चॅनेल को सबस्क्राइब करे. जानकारी अच्छी लगे तो दोस्त और चाहने वालोंतक जरूर शियर की जिये, धन्यवाद.

About Author

  • Jyotish Guide
  • A simple and easy way to learn astrology lessons through Jyotish Guide, It's simple and free way.